Date: 26 September 2018

फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों से मिले राहुल , नहीं की राफेल पर चर्चा

By Sachivalaya :13-03-2018 05:13


नई दिल्ली । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से मुलाकात की लेकिन राफेल लड़ाकू विमान सौदे पर बात नहीं की। दोनों नेताओं ने उदारवादी लोकतंत्र, झूठी खबरों आदि मुद्दों पर चर्चा की। मुलाकात में राहुल गांधी के साथ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी थे।

कांग्रेस हाल के महीनों में राफेल सौदे को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर रही है। उसका आरोप है कि राफेल को ज्यादा कीमत पर खरीदा गया, इसलिए देश को नुकसान हुआ। मैक्रों से मुलाकात के बाद राहुल ने ट्वीट करके बताया कि उन्होंने उदारवादी लोकतंत्र के मायनों पर फ्रांस के राष्ट्रपति से लंबी चर्चा की। दोनों देशों के लोकतांत्रिक वातावरण के बारे में बात की। इस दौरान वैश्विक चुनौतियों पर भी चर्चा हुई। पर्यावरण को लेकर बढ़ रहे खतरों पर बात हुई।

मैक्रों से मुलाकात में राहुल ने राफेल का मुद्दा क्यों नहीं उठाया, इस पर कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष हमेशा विदेशी राष्ट्राध्यक्ष से मिलते हैं। कांग्रेस के इतिहास रहा है कि वह आगंतुक मेहमान से मुलाकात में राष्ट्रहित का ध्यान रखती है। जहां तक राफेल सौदे का सवाल है तो उसमें छह गंभीर खामियां हैं जो मामले में घोटाला होने की ओर इशारा करती हैं। इंगित करती हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता हुआ। सुरजेवाला ने कहा, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए लड़ाकू विमान की कीमत बताने से इन्कार कर दिया। लेकिन डसाल्ट एविएशन ने 2016 की अपनी वार्षिक रिपोर्ट में बताया है कि 58,000 करोड़ रुपये में उसका 36 राफेल विमान बेचने का भारत से समझौता हुआ है। इस हिसाब से एक विमान 1,670 करोड़ रुपये का पड़ा। यही विमान 11 महीने पहले मिस्त्र और कतर को 1,319 करोड़ रुपये में प्रति फाइटर की दर से बेचा गया। इस लिहाज से भारत को पूरे सौदे में 12,632 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

Source:Agency

 

मिली जुली खबर











Visitor List

Today Visitor 2188
Total Visitor 6159409

Advt

Video

Rashifal